5 सितंबर 2019 को हैदराबाद विश्वविद्यालय में संगीत विभाग का उद्घाटन किया गया था. उद्घाटन के बाद प्रसिद्ध हिंदुस्तानी गायिका और राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार ग्रहीता पद्मश्री शुभा मुद्गल और भारत के प्रमुख तबला वादकों में से एक तथा ‘Chasing the Raag Dream: A look in to the world of Hindustani Classical Music’ शीर्षक पुस्तक के लेखक श्री. अनीश प्रधान द्वारा ‘संगीत शिक्षा’ पर व्याख्यान-सह-चर्चा का आयोजन किया गया. विश्वविद्यालय को उम्मीद है कि यह नया विभाग भारत में संगीत परिदृश्य के पोषण में योगदान देगा और अनुसंधान में देश के महत्वपूर्ण केंद्रों में से एक बन जाएगा.

शुभा मुद्गल और अनीश प्रधान ने छात्रों और संकाय के साथ संपन्न हुए वार्तालाप में कहा कि अभ्यास और सिद्धांत एक दूसरे के पूरक हैं और हमें खुशी है कि हैदराबाद विश्वविद्यालय के एस.एन. कला और संचार संकाय में संगीत विभाग का उद्घाटन हो रहा है.  

शुभा मुद्गल ने कहा कि संगीत के छात्रों को एक अतिरिक्त भारतीय भाषा का ज्ञान होना चाहिए जिससे उन्हें उस भाषा में किए गए अद्भुत काम के बारे में जानने में मदद मिलेगी. उन्होंने यह भी कहा कि हमें शिक्षा को बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करना चाहिए और हैदराबाद विश्वविद्यालय में संगीत विभाग में इसका उपयोग करना चाहिए.

व्याख्यान में हिंदुस्तानी संगीत के विशेष संदर्भ में भारत में संगीत शिक्षा के आयामों पर विस्तृत चर्चा की गई.

संगीत विभाग एस.एन कला और संचार संकाय में शामिल होगा, जिसमें वर्तमान में संचार, नृत्य, रंगमंच कला और ललित कला विभाग मौजूद हैं. 

हैदराबाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अप्पा राव पोदिले ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की, जबकि प्रो. पी. तिरुमल, अध्यक्ष, एस.एन कला और संचार संकाय ने स्वागत किया.

Powered By Indic IME