क्षेत्रीय अध्ययन केन्द्र, समाज विज्ञान संकाय, हैदराबाद विश्वविद्यालय के सहायक प्रोफेसर डॉ. सलह पुनाथिल को मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट फॉर दि स्टडी ऑफ रिलीजियस एंड एथनिक डाइवर्सिटी, गॉटिंगेन, जर्मनी द्वारा पोस्ट डॉक्टोरल शोध के लिए एक वर्ष की फेलोशिप दी गई है. उन्होंने 1 जुलाई, 2018 को मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट जॉइन कर लिया है.

डॉ. सलह ने सहायक प्रोफेसर (तदर्थ) के रूप में समाजशास्त्र विभाग, दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स, दिल्ली विश्वविद्यालय में सेवा की है. (29 जुलाई, 2009 से 20 मई 2010) और समाजशास्त्र विभाग, तेजपुर विश्वविद्यालय, असम में भी काम किया है. (13 सितंबर 2011 से 11 जून 2014) अनुसंधान के उनके क्षेत्र में जातीय संघर्ष और हिंसा, प्रवासन और राजनीतिक और सांस्कृतिक सीमाएँ और दक्षिण एशिया में अल्पसंख्यक पहचान और नागरिकता से संबंधित मुद्दे शामिल हैं. आपने हैदराबाद विश्वविद्यालय, से समाजशास्त्र में एम.ए. तथा सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ सोशल सिस्टम्स, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से एम.फिल. (2009) और पीएच.डी. (2015) की है. उनके पीएच.डी. का विषय – Identity and Conflict: A Study of Inter-Community Violence among Marakkayar Muslims Mukkuvar Christians of South Kerala – रहा.

मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट फॉर दि स्टडी ऑफ रिलीजियस एंड एथनिक डाइवर्सिटी मुख्य रूप से विविधता के विभिन्न रूपों पर शोध कार्य करता है.

Powered By Indic IME