73वें स्वाधीनता दिवस के अवसर पर हैदराबाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अप्पा राव पोदिले ने विश्वविद्यालय परिसर में स्थित गुरबख्श सिंह मैदान में राष्ट्रध्वज फहराया. इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कतिपय संकाय अध्यक्ष, विभागाध्यक्ष, फैकल्टी, कुलसचिव श्री. पी. सरदार सिंह, अधिकारी छात्र एवं कर्मचारी उपस्थित थे.

कुलपति महोदय प्रो. अप्पा राव पोदिले ने इस अवसर पर विश्वविद्यालय समुदाय का अभिनंदन किया. उन्होंने हमारे लिए बलिदान करने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को स्मरण करने की भी अपील की. इस मौके पर विश्वविद्यालय के प्रथम कुलपति प्रो. गुरबख्श सिंह के साथ अन्य सभी कुलपतियों के प्रति आभार भी प्रकट किया गया जिन्होंने ऐसी एक व्यवस्था का निर्माण किया जिसके कारण हमारा विश्वविद्यालय अन्य किसी भी संस्थान की अपेक्षा तेज़ गति से आगे बढ़ने में सफल रहा है. कुलपति महोदय ने गर्व और प्रसन्नता के साथ इस बात का उल्लेख किया कि नेचर इंडेक्स, आउटलुक, दि वीक और इंडिया टुडे जैसी विविध संस्थाओं द्वारा हैदराबाद विश्वविद्यालय को बढ़िया रैंकिंग्स दी गई हैं. आपने कहा कि अभी हम संतुष्ट नहीं हो सकते क्योंकि और आगे बढ़ने की अपार संभावनाएँ मौजूद हैं.

आगे प्रो. पोदिले ने कहा कि हमें इस बात पर गर्व है कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने हमारे विश्वविद्यालय को प्रतिष्ठित विशिष्ट संस्थान (आईओई) के लिए संस्तुत किया है, जिससे हमारे संस्थान को शैक्षिक, प्रशासनिक और वित्तीय मामलों में और अधिक स्वायत्तता मिलेगी. हालांकि उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि यह एक बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी है. इस कार्य में उपस्थित चुनौतियों की भी चर्चा की गई.

कुलपति महोदय वर्ष 2019-20 से प्रारंभ किए गए नए पाठ्यक्रमों की जानकारी दी. साथ ही, आपने छात्र कल्याण, शैक्षिक और शोध अनुदान (SWARG) के बारे में बात की जो छात्रों के लिए बहुत लाभकारी योजना है. उन्होंने सूचित किया कि पहली बार किसी भी भारतीय संस्थान में विश्वविद्यालय विशिष्ट प्रोफेसर और विश्वविद्यालय शोध प्रोफेसर के पदों को मान्यता दी गई है. विश्वविद्यालय के परिसर को ग्रीन कैम्पस बनाने के लिए उन्होंने विश्वविद्यालय समुदाय को धन्यवाद ज्ञापित किया.

कुलपति महोदय के संबोधन के बाद कैम्पस विद्यालय और केंद्रीय विद्यालय के छात्रों द्वारा कुछ रंगारंग देशभक्तिपरक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए.

Powered By Indic IME